दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के अब इंटरनेशनल साजिश की बात सामने आ रही है। किसान आंदोलन को पहले पॉप स्टार रेहाना, पोर्न स्टार मिया खलीफा के समर्थन के बाद अब स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग ने कुछ दस्तावेज ट्वीट किया है, जिसमें साफ तौर पर लिखा हुआ था कि, भारत की ग्लोबल इमेज के विपरीत फासीवादी इमेज को बनाना है। इसमे यह भी लिखा हुआ है कि दुनियाभर में भारत की छवि खराब करने के लिए एक ट्विटर अभियान चलाया जाए। इसमे 6 फरवरी और उसके बाद 15 फरवरी को भी किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट करने की बात कही गई है, जिससे भारत और मोदी सरकार को बदनाम किया जा सके। हालांकि ग्रेटा थनबर्ग ने अपना यह ट्वीट हटा दिया है।
26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च के दौरान हुई हिंसा के बाद खालिस्तानी ग्रुप के कनेक्शन की बात सामने आ चुकी हैं, और अब भारत को बदनाम करने के लिए किसान आंदोलन की आड़ में इंटरनेशनल साजिश रची जा रही है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here