नई दिल्ली/ देशभर में 16 जनवरी को कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण की विधिवत शुरुआत हो गई, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुबह 10:30 बजे कोविड-19 टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया।

image002ZWKQ

स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने दुनिया के सबसे बड़े कोविड-19टीकाकरण अभियान के विस्तार और संभावना पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा, “सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में आज 3,006 सत्र स्थलों पर एक साथ इस प्रक्रिया की शुरुआत हुई और प्रत्येक स्थल पर लगभग 100 लाभार्थियों को टीका लगाया गया।138 करोड़ की जनसंख्या और सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम जिसमें टीका के जरिए रोकथाम की जाने वाली बारह बीमारियों के खिलाफ लक्षित टीकाकरण शामिल है,के साथ भारत आज इतिहास दर्ज करने के शिखर पर खड़ा है और दुनिया भर में अन्य देशों को रास्ता दिखा रहा है। चेचक और पोलियो के बाद अब कोविड की बारी है। आज की प्रक्रिया में सभी दूरस्थ, दुर्गमक्षेत्रों, शहरी झुग्गी-झोपड़ी,जनजातीय क्षेत्र शामिल हैं।”

डॉ. हर्षवर्धन ने यह विशाल प्रक्रिया आरम्भ करने के लिए की गई तैयारियों के बारे में विस्तार से बताया:-“एक लाख से अधिक टीका लगाने वालों को प्रशिक्षित किया गया; कई मॉक अभ्यास किए गए; छोटी से छोटी गलतियों को दुरुस्त करने के लिए एक अखिल भारतीय राष्ट्रीय प्रक्रिया भी संचालित की गई। निष्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग किया गया। ईविन प्लेटफॉर्म को को-विन(कोविड पर विजय) में रिपर्पस किया गया, पिछले दो दिनों से (आज के सत्र के लिए) सभी लाभार्थियों को एसएमएस भेजा गया, जिसे सभी सत्रों में सभी निर्धारित लाभार्थियों के लिए उनकी दूसरी खुराक के लिए दोहराया जाएगा।”

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कुशल टीम वर्क और दृढ़ राजनीतिक प्रतिबद्धता ने इस विशाल प्रक्रिया की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री और मेरे सभी सहयोगी स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ सभी मुख्यमंत्रियों ने एक टीम के रूप में काम किया है और आज एक इतिहास बनाया है।”

image003YOCY

डॉ. हर्षवर्धन पहली टीका खुराक दिए जाने की निगरानी करते हुए…

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here