धमतरी/ वैदिक परंपरा को बचाये रखने और उसके महत्व को समझाने के लिये लायनेस क्लब धमतरी द्वारा वैदिक राखी प्रतियोगिता का आयोजन ऑनलाइन किया गया, जिसमे प्रथम स्थान पर लावण्या अग्रवाल, द्वितीय श्रेया गुप्ता एवं तृतीय यशस्वी सिंह बघेल एवं तान्या महावर ने अपना स्थान बनाया, इनके अलावा चायनीज़ राखी का विरोध करते हघर मे मौजूद सामग्रियों से राखी बनाई उनमे प्रथम कृति मित्तल, द्वितीय आर्य खंडेलवाल, तृतीय स्थान पर लावण्या गुप्ता रही।
लायनेस क्लब के सदस्यों ने भी ऑनलाइन वैदिक राखी बनाकर नई पीढ़ी को वैदिक परंपरा से जुड़ने के लिये प्रोत्साहित किया , प्रथम स्थान पर उषा गुप्ता रही उन्होंने कहा कि वैदिक राखी का प्राचीनकाल से ही बहुत महत्व है, ये राखी सांस्कृतिक मूल्यों व वैज्ञानिकता की परिभाषा पर खरी उतरती है, यह रक्षा सूत्र बांधते समय रक्षा श्लोक बोला जाता है,द्वितीय स्थान पर ज्योति गुप्ता जी रही उन्होंने कहा कि सर्व प्रकार के अमंगलों से,भाई की दसों दिशाओं में रक्षा करती है वैदिक राखी व वैदिक रक्षासूत्र ,तृतीय स्थान पर रही कामिनी कौसिक ने बताया कि वैदिक रक्षासूत्र वैदिक संकल्पों से परिपूर्ण होकर सर्वमंगलकारी है, संतोष मिन्नी व मनीषा छाजेड़ ने भी वैदिक राखी बनाकर उसके महत्व को समझाया ,लायनेस क्लब अध्यक्ष अनिता अग्रवाल ने सबको राखी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राखी मात्र एक धागा नहीं होता है वरन भाई के लिए बहन द्वारा किये गए संकल्पों का प्रतीक होता है, असीम प्रेम व विश्वास का प्रतीक होता है, सचिव जानकी गुप्ता द्वारा ऑनलाइन बच्चो व प्रदेश की महिलाओं को वैदिक राखी का प्रशिक्षण देेकर वैदिक परंपरा का प्रचार प्रसार किया जा रहा है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here