अरविंद तिवारी
माउंटआबू – महिलाओं द्वारा संचालित दुनियाँ के सबसे बड़े आध्यात्मिक संगठन ब्रह्माकुमारी संस्थान की मुख्य प्रशासिका तथा स्वच्छ भारत मिशन ब्रांड एम्बेसडर राजयोगिनी दादी जानकी का 104 वर्ष की उम्र में माउन्ट आबू के ग्लोबल हास्पिटल में देहावसान हो गया। गत दो महीने से उन्हें श्वाँस तथा पेट की तकलीफ थी जिसका ईलाज चल रहा था।उनका अंतिम संस्कार आज दोपहर 03:30 बजे ब्रह्माकुमारी के अन्तर्राष्ट्रीय मुख्यालय शांतिवन में सम्मेलन सभागार के सामने मैदान में किया जायेगा।
गौरतलब है कि नारी शक्ति की प्रेरणास्रोत राजयोगिनी दादी जानकी का जन्म 01 जनवरी 1916 को हैदराबाद सिंध, पाकिस्तान में हुआ था। मात्र चौथी तक पढ़ी राजयोगिनी दादी 21 वर्ष की उम्र में ही ब्रह्माकुमारी संस्थान के आध्यात्मिक पथ को अपना लिया था, और पूर्णरुप से समर्पित हो गयी थी। दुनियाँ के 140 देशों में मनवीय मूल्यों के बीजारोपण के हजारों सेवाकेन्द्रों की स्थापना कर उन्होंने लाखों लोगों को एक नयी जिन्दगी दी। रायजोगिनी दादी जानकी ने पूरे विश्व में मन, आत्मा की स्वच्छता के साथ बाहरी स्वच्छता के लिये अनोखा कार्य किया। जिसके लिये भारत सरकार ने उन्हें स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड अम्बेसडर बनाया था। दादी जानकी के देहावसान की खबर सुनते ही देश विदेश के संस्था के अनुयायी व अन्य लोगों ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here