रायपुर/ किसानों पर बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज कर दौड़ा-दौड़ाकर पीटने वाली कांग्रेस सरकार के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के आह्वान पर प्रदेश भर के जिला मुख्यालय में धरना प्रदर्शन किया गया था।

रायपुर जिले द्वारा भी फायर ब्रिगेड चौक में एक दिवसीय धरना देकर जहां एक ओर किसानों के समर्थन में भारतीय जनता पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ता मैदान में उतरे वहीं भूपेश बघेल की सरकार को तल्ख लहजे में चेतावनी भी दी।
धरने को संबोधित करते हुए सांसद सुनील सोनी ने कहा कि किसानों के स्वस्फूर्त आंदोलन को प्रायोजित बताकर प्रदेश सरकार और कांग्रेस के लोग अपने निकम्मेपन पर परदा डालने और सच्चाई से मुंह चुराने का काम कर रहे हैं। किसानों के पेट पर लात मारकर कोई सरकार आखिर कितने दिनों तक सत्तावादी अहंकार में डूबी रहेगी? किसानों के साथ धोखाधड़ी करके सियासी नौटंकियों और अपनी वाहवाही कराने में मस्त सरकार को अब अपनी सबसे बड़ी राजनीतिक कीमत चुकाने के लिए तैयार रहना चाहिए। किसान अपना धान बेचकर परिवार चलाना चाहते हैं। पूरे सत्र में लगभग एक से डेढ़ माह तक छुट्टियों, खरीदी केन्द्रों में धान जाम, बारदानों की कमी और मौसम की खराबी के कारण धान की खरीदी प्रभावित हुई। अब किसान उसी प्रभावित अवधि के लिए मियाद बढ़ाने कह रह रहें तो सरकार हठ पर उतर आई है। इस बर्बरता एवं हठधर्मिता के गंभीर परिणाम कांग्रेस पार्टी को भुगतने के लिए तैयार रहना होगा।
भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव कुमार अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार आते ही अराजकता की स्थिति देखने को मिल रही है। प्रदेश की सारी व्यवस्थाएं जो डॉ. रमन सिंह की सरकार ने अथक मेहनत और परिश्रम से स्थापित किया यह सरकार उस व्यवस्था को पूरी तरह तहस-नहस करने पर आमादा है। किसानों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार की भारतीय जनता पार्टी घोर निंदा करती है।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने कहा कि भूपेश बघेल की सरकार ने सारी सीमाएं लांघ दी है। अन्नदाता किसानों पर लाठीचार्ज शर्म से डूब मरने की बात है। यह कांग्रेस की शुरू से प्रवृत्ति रही है। सरकार में आते ही कांग्रेस के लोग अहंकार और भ्रष्टाचार, भय का वातावरण निर्मित करते हैं और भूपेश सरकार बनते ही पूरे प्रदेश में यही स्थिति है। कांग्रेस सरकार ने अपनी शुरूआती वर्ष में ही अपने चाल, चरित्र और चेहरे से प्रदेश को वाकिफ करा दिया है। इस सरकार में अब किसानों पर अत्याचार शुरू हो गया है। पूरे प्रदेश में किसान हताश परेशान हैं और मुखिया विदेशों की सैर-सपाटे में है। इस सरकार की शुरू से ही नीयत ठीक नहीं हैं। इस सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया है। भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस सरकार के खिलाफ हर स्तर पर जाकर आंदोलन करेगी।
भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्रीचंद सुन्दरानी ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया है। इस सरकार ने न केवल किसानों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा है बल्कि उनके पेट पर भी लात मारने का काम किया है। कहीं रकबा कम किया जा रहा है तो कहीं बारदाने की कमी बताकर किसानों को वापस लौटाया जा रहा है, तो कहीं कम्प्यूटर में खराबी का हवाला देकर परेशान किया गया। कुल मिलाकर कहा जाए तो भूपेश सरकार की धान खरीदी नीति पूरी तरह विफल न केवल साबित हुई है बल्कि दगाबाज और धोखेबाज सरकार के रूप में स्थापित हो चुकी है।

धरने को प्रमुख रूप से किशोर महानंद, शैलेन्द्री परगनिहा, मृत्युंजय दुबे, विजय जयसिंघानी, सचिन मेघानी, अमरजीत छाबड़ा, तुषार चोपड़ा, सुनील चौधरी, हंसराज विश्वकर्मा, राजकुमार राठी, उत्कर्ष द्विवेदी, तौकीर रजा, ने भी संबोधित किया।
धरने का संचालन जिला महामंत्री जयंती पटेल एवं आभार व्यक्त श्याम सुंदर अग्रवाल ने किया।
इस दौरान छगनलाल मूंदड़ा, अशोक पाण्डेय, प्रफुल्ल विश्वकर्मा, सुभाष तिवारी, अंजय शुक्ला, गोवर्धन खंडेलवाल, डॉ. सलीम राज, सत्यम दुवा, बजरंग खंडेलवाल, योगी अग्रवाल, नवीन शर्मा, अकबर अली, राजीव चक्रवती, ज्ञानचंद चौधरी, शिवजलम दुबे, बसंत बाग, कपील यादव, मुरली शर्मा, रिजवान पटवा, मखमूर खान, यूनुस करैशी, बी. श्रीनिवास, मुकेश पंजवानी, अनूप खेलकर, रवीन्द्र ठाकुर, गोपी साहू, ओमप्रकाश साहू, हरीश ठाकुर, प्रमोद साहू, सुरेन्द्र सिंह छाबड़ा, गज्जू साहू, पुरूपोत्तम देवांगन, भोला साहू, आत्माराम बंजारे, वी.वी. गिरी, राजू साहू, बृजेश अग्रवाल, पिंकेश्वर साहू, सुनील चंद्राकर, उमेश घोरमोड़े, रामलाल साहू, बॉबी खनूजा, विशाल पाण्डेय, अरूण झा, सोनू राजपूत, विनोद तिवारी, प्रवीण तिवारी, कमलेश अग्रवाल, जयराम दुबे, वंदना सिन्हा सहित सैकड़ों कार्यकर्ता धरने में उपस्थित रहे।

SHARE

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here